एक छोटा सा वार्तालाप हिन्दी साहित्य के युवा लेखक शिवप्रिय आलोक जी के साथ / A short interview with Shivpriya Alok

नाम : शिवप्रिय आलोक

जन्मदिवस : 6 फरवरी 1989

मूलस्थान : कटिहार, बिहार

शैक्षिक उपाधि : बी.बी.एम, टी.वी. प्रोडक्शन और डायरेक्शन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा

स्वभाव : संवेदनशील (‘सनकी’ और ‘मनचला’ जैसी उपाधियां भी हैं अपने पास)

1. हॉलीवुड अथवा बॉलीवुड में से कौन सी फिल्में देखना पसंद करते हैं, नयी अथवा पुरानी?

हर तरह की फिल्में देखता हूं, नए पुराने के पचड़े में नहीं पड़ता,फिल्म के विषय को ज्यादा महत्त्व देता हूं… फिल्में व्यक्ति और समाज की सोच पर गहरा प्रभाव डालती हैं, फिल्में सिर्फ मनोरंजन के लिए के ना बनाई जानी चाहिए और ना देखी जानी चाहिए।

2. आपके विचार में क्या हर व्यक्ति के जीवन में किसी गुरु का होना अनिवार्य है? क्यूं अथवा क्यूं नहीं.:?

हर व्यक्ति के जीवन में अच्छी और बुरी परिस्थितियां आती हैं और जिन्दगी का सबक दे जाती हैं,परिस्थितियां सभी गुरूओं से श्रेष्ठ हैं और सबकी गुरु हैं।

3. साहित्य प्रेरणा :

प्रेम,असफलता,संवेदना और स्वयं की खोज

4. पसंदीदा व्यंजन :

तंदूरी चिकन,मछली-भात

5. पसंदीदा साहित्य विधा(कविता/कहानी/व्यंग्य/हाइकू आदि) :

कविता और व्यंग्य

6. मनपसंद TV प्रोग्राम :

KBC,सत्यमेव जयते,महाभारत

7. प्रिय पुस्‍तक/रचनाकार :

वैशाली की नगरवधू / धूमिल

8. आप अपने क्रोध को नियंत्रण में नहीं रख पाते जब :

बिना सोचे समझे वास्तविक और ज्वलंत मुद्दों को जाति और धर्म की शूली पर टांग दिया जाता है।

9. प्रतिलिपि के विषय में आपके विचार :

प्रतिलिपि मेरी नजर में दो रचनात्मक पीढ़ीयों के बीच एक पुल बांधने का सार्थक प्रयास है।

10 . पाठकों के लिये संदेश :

कविताएं वाहवाही लूटने के मकसद से नहीं लिखी जातीं,पढ़ें और कविता के माध्यम से दिए गए संदेश समझने की कोशिश करें।

Published works on Pratilipi :

    

  

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s