Today’s read

‪#‎freeread‬ ‪#‎story‬
‘जो मागूँ, वह दोगे ?’
‘दूँगा , जनेऊ की कसम खा कर कहता हूँ !’
‘न दो तो मेरी बात जाए।’ ‘कहता हूँ भाई, अब कैसे कहूँ। क्या लिखा-पढ़ी कर दूँ ?’
‘अच्छा, तो माँगती हूँ। मुझे अपने साथ होली खेलने दो।

#freeread #story
'जो मागूँ, वह दोगे ?'
'दूँगा , जनेऊ की कसम खा कर कहता हूँ !'
'न दो तो मेरी बात जाए।' 'कहता हूँ भाई, अब कैसे कहूँ। क्या लिखा-पढ़ी कर दूँ ?'
'अच्छा, तो माँगती हूँ। मुझे अपने साथ होली खेलने दो।
http://www.pratilipi.com/munshi-premchand/aansuon-ki-holi
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s